रियल टाइम रजिस्ट्रेशन सिस्टम को लागू करने और इस प्रक्रिया के भरपूर उपयोग की दिशा में पहल करते हुए हॉकीइंडिया ने आज एक नया एवं कस्टम बिल्ट पोर्टल – हॉकी इंडिया मेंबर यूनिट्स पोर्टल-लान्च करने की घोषणा की। यह ऑनलाइन पोर्टल हॉकी इंडियाके पंजीकृत सदस्य इकाइयों को कई तरह की आजादी प्रदान करेगी। अब वे मौजूदा मैनुएल सिस्टम से डिजिटल प्लेटफार्म की ओर अग्रसर होंगे औरअपने खिलाड़ियों तथा अधिकारियों के पंजीकरण, टेम्परोरी एवं परमानेंट खिलाड़ियों के ट्रांसफर से जुड़े आवेदन, भविष्य में होने वाले नेशनलचैम्पियनशिप के लिए दस्तावेजों की प्रस्तुती (टीम इंट्री फार्म सहित), पार्टिसिपेशन फीस इत्यादि के लिए इस आसान प्रक्रिया का उपयोग कर सकेंगे।

भारत सरकार के खेल एवं युवा मामलों को मंत्रालय द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करते हुए, हॉकी इंडिया मेम्बर पोर्टल के माध्यम से सभी सदस्यइकाइयों को सदस्यता कम्प्लाएंस, राज्यस्तरीय इवेंट्स, आडिट रिपोटर्स इत्यादि से जुड़े दस्तावेजों को जमा करने में आसानी होगी। पहले यह काममैनुअली होता था।

हॉकी इंडिया की पंजीकृत सदस्य इकाइयों को शुरुआती चरण में उन खिलाड़ियों के प्रलेखन को सत्यापित करने की आवश्कता होगी, जिनके नाम हॉकीइंडिया पहले से ही आईडी कार्ड जारी कर चुका है। साथ ही सम्बंधित श्रेणी के लिए जरूरी दस्तावेजों के सत्यापन के बाद ही उसे नए खिलाड़ियों कापंजीकरण करना होगा। हॉकी इंडिया से खिलाड़ियों के सम्बंध में अप्रूवल मिलने के बाद हर खिलाड़ी को हॉकी इंडिया पोर्टल पर पंजीकृत करना होगा।यह पंजीकरण खिलाड़ी के जीवन में एक बार ही सम्भव हो सकेगा और एक बार पंजीकरण होने के बाद खिलाड़ी की जन्म की तारीख, पिता का नामनहीं बदला जा सकेगा। इससे उम्र और दस्तावेजों से जुड़े फ्राड मामलों पर नकेल लगाई जा सकेगी।

एक बार खिलाड़ी जब हॉकी इंडिया मेम्बर यूनिट पोर्टल पर पंजीकृत हो गया तो उसे हाकी इंडिया कार्ड प्रदान किया जाएगा। उन्हीं खिलाड़ियों कोभविष्य में होने वाले हॉकी इंडिया राष्ट्रीय आय़ोजनों में हिस्सा लेने की छूट होगी, जो हॉकी इंडिया मेंम्बर यूनिट पोर्टल पर पंजीकृत हैं।

दस्तावेजों को अपलोड करने की प्रक्रिया की समाप्ति के बाद उन्हें सक्षम प्राधिकारी द्वारा सत्यापित और अनुमोदित किया जाएगा। साथ ही सदस्यइकाइयों के पास भविष्य में होने वाली हाकी इंडिया चैम्पियनशिप्स के लिए अपनी सदस्य इकाई के स्वीकृत खिलाड़ियों के पूल से ही टीम बनाने औरउसे पंजीकृत कराने की आजादी होगी।

इस प्लेटफार्म को दूसरे चरण में इस तरह विकसित किया जाएगा कि इसमें सभी राज्य स्तरीय टूर्नामेंट्स/चैम्पियनशिप्स, कोचों, तकनीकी अधिकारीपंजीकरण, हाकी इंडिया कोचिंग एजुकेशन पाथवे से जुड़ी जानकारियों इत्यादि को आनलाइन किया जा सके।

हॉकी इंडिया के अध्यक्ष मोहम्मद मुश्ताक अहमद ने कहा कि यह मजबूत प्रक्रिया सत्यापित प्रलेखन सुनिश्चित करेगी। अहमद ने कहा- इस पहल काउद्देश्य मैनुअल प्रणाली से डिजिटल प्रक्रिया तक आसान हस्तांरण सुनिश्चित करना है। हम यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि हाकी से जुड़ी सभी जानकारीसत्यापित और सम्पूर्ण हो। हाकी इंडिया ने यह फैसला सर्वसम्मति से लिया है क्योंकि उसका मानना है कि डाटा को आसानी से हासिल करने के लिएपेपरलेस होना जरूरी है। शुरुआत में कुछ राज्य सदस्य इकाइयों को इस प्रक्रिया का पालन करने में दिक्कत आएगी और इसी को ध्यान में रखते हुएएक यूजर मैनुएल सभी सदस्य इकाइयों को दे दिया गया है और इसके अलावा हॉकी इंडिया के अधिकारी इस सम्बंध में आ रही किसी भी दिक्कत केनिवारण के लिए उपलब्ध रहेंगे।

More News

view All

Matches

view All